हमारे बारे में पृष्ठभूमि उद्देश्य
संगठनात्मक ढ़ाँचा शासन स्तर निदेशालय स्तर

 

 

 

लाभार्थी की चयन प्रक्रिया      
 

 

 

               रेशम विकास विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं/परियोजनाओं में लाभार्थियों के चयन के निर्धारित मापदण्ड मुख्यतः निम्न हैं।

1. लाभार्थी रेशम उद्योग अपनाने हेतु इच्छुक हों।

2. शहतूत वृक्षारोपण हेतु लाभार्थी के पास कम से कम 1/4 एकड़ भूमि उपलब्ध हो।

3. उपलब्ध भूमि की क़िस्म बलुई दोमट हो जिसकी पि-एच वैल्यू 7.00 से अधिक अथवा कम न हो।

4. भूमि से जल भराव न हो।

5. भूमि सिंचित हो।

6. लाभार्थी के पास रेशम कीटपालन हेतु उचित स्थान हो।

       उक्त अर्हता धारण करने वाले लाभार्थियों का चयन रेशम विकास विभाग के कार्मिकों द्वारा सर्वेक्षण कर ग्राम सभा की खुली बैठक में अथवा लाभार्थी द्वारा रेशम विकास के यूनिट इंचार्ज से सम्पर्क/आवेदन करने पर किया जाता है।

 
 

 

 

कापीराइट ©2011, रेशम निदेशालय, उत्‍तर प्रदेश सरकार, भारत | 1024x768 पर सर्वोत्तम दृष्‍टि